Mar 30, 2014

सारनाथ-7(भगवान बुद्ध और उनके पाँच शिष्य)




मुर्तियाँ वही, स्थान वही, सिर्फ वस्त्र बदल गये।

5 comments:

  1. आपकी इस प्रस्तुति को ब्लॉग बुलेटिन की आज कि बुलेटिन पोलियो मुक्त भारत, नवसंवत्सर, चैत्र नवरात्र - ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    ReplyDelete
  2. what u want to say by " murriyan wahi ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. हम यह बताना चाहते हैं कि दोनों चित्र एक ही स्थान की, अलग-अलग समय पर खींची गई है।

      Delete
  3. वाह आपके सौजन्य से आज दर्शन हो गये।

    ReplyDelete